world water day
National and International Days

22 March : World Water Day (विश्व जल दिवस)

22 March : World Water Day (विश्व जल दिवस)

पूरे विश्व में विश्व जल दिवस हर साल 22 मार्च को मनाया जाता है। इस दिवस को 1993 में संयुक्त राष्ट्र की सभा के द्वारा इस दिवस को वार्षिक दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया था। पूरे विश्व में जल का महत्त्व, जल की आवश्यकता के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए इस दिवस को मनाने की घोषणा की थी।

कहा जाता है “जल है कल है” संयुक्त राष्ट्र के आंकड़ों के मुताबिक दुनिया में हर एक नौवें शख्स के पास पीने के पानी का अभाव है। इसी वजह से हर वर्ष लाखों लोग बिमारियों के शिकार होते है जिससे कि उनकी मौत भी हो जाती है। जल दिवस पर हर वर्ष एक थीम होती है साल 2008 में थीम थी – “Nature From Water” यानि प्रकृति से जल। अनुमान के मुताबिक करोड़ों करोड़ों जनसंख्या का आंकड़ा ऐसा है पानी पीने के लिए नहीं मिलता है, अगर मिलता भी तो वो साफ़ नहीं होता है।

 

world water day

 

विश्व जल दिवस भारत, यू एस ए, जर्मनी, जापान, बांग्लादेश और दुनिया भर के संयुक्त राष्ट्र के सदस्यों द्वारा मनाया जाता है। पूरे भारत में कई स्कूलों और कॉलेजों में विश्व जल दिवस पर भाषण और निबंध प्रतियोगिताएं होती है और इन प्रोतियगिताओं में विद्यार्थियों को पानी का मूल्य तथा आवश्यकता के बारे में बताया जाता है। पानी की आवश्यकता हर मनुष्य के जीवन में होती है। इसलिए हर मनुष्य को पानी के बचाव के बारे में सोचने के लिए इस दिवस को हर राष्ट्र में बहुत धूम-धाम से मनाना चाहिए।

आज कल जल को लेकर बहुत लोग लापरवाह है। जंगलों को काटना, वायु को दूषित करना और पानी को प्रदूषित करना। हम अपने घर को साफ़ सुथरा रखने के लिए अपने घर का कचरा नदियों और नहरों में डाल देते है। इस तरह हम पानी को दूषित करते है। जो कि हमें कई बिमारियों का शिकार बनाता है। इसलिए विश्व जल दिवस के अवसर पर करना ये है कि जल को प्रदूषित होने से बचाना और अपना पर्यावरण का ख्याल रखना होगा।

संयुक्त राष्ट्र जल प्रत्येक वर्ष एक नई थीम का चयन करते है –

2000 में विश्व जल दिवस की थीम – “21 वीं सदी के लिए पानी की आवश्यकता”

2001 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल स्वस्थ के लिए”

world water day

2002 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल विकास के लिए”

2003 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल भविष्य के लिए”

2004 में विश्व जल दिवस की थीम – “आपदा और जल”

2005 में विश्व जल दिवस की थीम – “2005 से 2015 जीवन के लिए पानी”

2006 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल और संस्कृति”

2007 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल दुर्लभता के साथ मुंडेर”

2008 में विश्व जल दिवस की थीम – “स्वछता और सफाई”

2009 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल के पार”

2010 में विश्व जल दिवस की थीम – “स्वस्थ विश्व के लिए स्वछ जल”

2011 में विश्व जल दिवस की थीम – “शहर के लिए जल”

2012 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल और खाद्य सुरक्षा”

2013 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल और सहयोग”

2014 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल और ऊर्जा”

2015 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल और दीर्घकालिक विकास”

2016 में विश्व जल दिवस की थीम – “जल और नौकरियां”

2017 में विश्व जल दिवस की थीम – “अपशिष्ट जल”

2018 में विश्व जल दिवस की थीम – “प्रकृति से जल”

पानी हमारी सभी ज़रूरी चीज़ों में से एक है इसे हमें खुद की जिम्मेदारी और समझदारी से इस्तेमाल करना चाहिए।

0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!